Shayari on beautiful eyes in Hindi | आँखों पर कविता | Shayari on Aankhen

Eyes(आंखें) are the most precious gift that nature gave us. Shayari on beautiful eyes in Hindi everyone has beautiful eyes full of million dreams you can make feel someone special by telling them something special about their eyes like Shayari on beautiful eyes in Hindi, Love poems on eyes (आँखों पर कविता) and romantic Shayari on eyes in very easy Hindi and English script.

Shayari on beautiful eyes in Hindi

Shayari on beautiful eyes

मैं तेरी आंखों पर एक कविता बनाना चाहता हूं
उन की गहराइयों में खुद को डुबाना चाहता हूं खोना चाहता हूं
मैं खुद को तेरी आंखों के नीर में मैं तेरी आंखों की तस्वीर
शब्दों से बनाकर खाली पंनो पर सजाना चाहता हूं।

Main Teri Aankhon Par Ek Kavita banana chahta hun ,
Unki gehraiyon Mein Khud Ko dubana chahta hun ,
khona Chahta Hun Main Khud Ko Teri Aankhon Ke Neer Mein ,
Main Teri Aankhon Ki tasvir shabdon se Banakar
Khali panno par Sajana chahta hun.

Aakho par shayari

तेरी आंखों के जादू से तू खुद ही वाकिफ नही है,
उसे भी जीना सिखा देता जिसे मरने का शौक हो।

Teri akho ke jadu se tu khud hi wakif nahi ha
Use bhi jeena sikha deta jise marne ka shok ho.

aakheen shayari

मेरी आंखों में झांकने से पहले जरा सोच लीजिए हुज़ूर
जो हमने पलके झुका ली तो कयामत होगी और हमने नजरे मिला ली तो मोहब्बत होगी।
Meri Aankhon Mein jhakne se pahle Jara Soch Lijiye Huzur Jo Humne Palke Jhuka li to Kayamat Hogi
Aur Humne najre Mila Li to Mohabbat Hogi.
महफिल अजीब है ना यह मंजर अजीब है
जो उसने चलाया है वह खंजर अजीब है,
ना डूबने देता है ना मरने देता है उसकी आंखों का वह समंदर अजीब है।
Mahfil Ajeeb hai na yah Manjar Ajeeb hai
Jo usne chalaya Hai vah Khanjar Ajeeb hai,
na doobne deta hai na Marne Deta Hai uski aankhon ka vah samander Ajeeb hai.
aakho pr shayari

नशीली आंखों से वह जब हमें देखते हैं हम घबराकर आंखें झुका लेते हैं
कौन मिलआये उन आंखों से आंखें सुना है वो आंखों से अपना बना लेते हैं।

Nashili akho se wo jab hume dekhte ha hum ghabrakr akhe jhuka lete ha,
kon milaye un akho se akhe suna ha wo akho se apna bna lete ha.

nashili aakhen

तेरी याद को पसंद आ गई है मेरी आंखों की नमी
हंसना भी चाहूं तो रुला देती है तेरी कमी।
Teri Yad ko Pasand a Gai Hai Meri Aankhon Ki Nami
Hansna bhi Chahun Tu Rula Deti Hai Teri Kami.
blue eyes

होठों ने हर बात छुपा कर रखी थी आंखों को यह हुनर कभी आया ही नहीं।

Photo Ne Har Baat Chhupa kar Rakhi Thi aankhon ko yah hunar Kabhi Aaya hi Nahin.
आपकी आंखें ऊंची हुई तो दुआ बन गई
नीची हुई तो हया बन गई
जो झुक कर उठी तो खता बन गई उठकर झुकी तो अदा बन गई।
Apki akhe uchi hui to dua bn gyi
Nichi hui to haya bn gyi
Jo jhuk kr uthi to khata bn gyi uthkr jhuki to ada bn gyi.
रात की गहराई आंखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,
यह जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के कुछ तो मजबूरी थी कुछ मेरी बेवफाई।
Raat Ki gehrai Aankhon Mein Utar Aayi ,
Kuch khwab dekhe aur kuchh Meri Tanhai, yah Jo Palko se bhej rahe hain Halke Halke Kuchh To Majburi Thi Kuchh Meri Bewafai
Pages ( 1 of 2 ): 1 2Next »