Sharab Shayari | दारू पर शायरी | Shayari about Sharab

Sharab Shayari

अज़ाब ऐ इश्क़ के मुकाबले मेरे साथ ना लगा,
इश्क लगा है इस जाम में इसे हाथ ना लगा।

Azaab ae Ishq Ke muqable mere sath na Laga
Ishq Laga hai is jaam me ise haath na Laga

मेरे शहर मेरी शराब और तेरे किस्से,
हर जुबां पर जरूर हैं।
नाम तो किसी को पता नहीं,
पर तू बेवफा के नाम से मशहूर है।

Mere sheher meri sharab aur tere kisse
Har zuba par zarur hai
Naam to Kisi ko pata Nahi
Par tu bewafa ke Naam se mashhur hai

Sharab Shayari

फुर्सत हो तो कदम रखूं तेरे मयखाने में,
अभी मशरूफ हूं ऐसा कि मैं तुझे भुलाने में।

Fursat ho to Kadam rakhu tere maikhane me
Abhi mashruf hu aesa ki main Tujhe bhulane me

आज भी मयखाने में शराब लिए बैठे हैं,
वह हमारे आंसू ना देख लें इसलिए चेहरे पर नकाब लिए बैठे हैं
हमें पता है वह लौटकर नहीं आने वाले
फिर भी, उनके इंतजार में खुद को भुलाए बैठे हैं।

Aaj Bhi maikhane me sharab liye baithe hai,
Veh hamare aansu na dekh le isliye chehre par nakaab liye baithe hai,
Hume pata hai Veh Laut Kar Nahi aane wale
Fir Bhi unke intezaar me khud ko bhulaye baithe hai.

Nasha Shayari

If you drink from time to time, it is normal because sometimes drunk people tell the truth that they kept in their hearts. Being an alcoholic is a way of being sincere in some way. If someone breaks your heart and gets you high, then दारू पर शायरी, Sharab Shayari, Nasha Shayari, and much more that you can share. Read Sharab Shayari and share it directly on Facebook and WhatsApp.

daru shayari in hindi

शराब बुरी चीज है आओ उसे खत्म करें,
एक बोतल तुम करो एक बोतल हम करें।

Sharab Buri chiz hai aao use khatam kare
Ek bottle tum Karo ek bottle hum kare

Sharab Shayari

दोस्त मैं एक चीज बड़ी लाजवाब लाया हूं
यार सारंग अब तो शायरी सुना,
यह देख मैं शराब लाया हूं।

Dost main Ek chiz Badi laajawab laya hu
Yaar saarang ab to Shayari suna
Ye dekh main sharab laya hu

दारू पर शायरी

ना जख्म भरे ना शराब सहारा हुई,
ना वो लोटी ना मोहब्बत दुबारा हुई।

Na zakhm bhare ,na sharab Sahara hui
Na vo lauti , na Mohabbat Dobara hui

कोई हद नहीं होंगी चाहत की गौर से सुने जो जाए इसमें,
मोहब्बत एक म्हखाना है कम पीने वाले ना आए इसमें।

Koi hadd Nahi hongi chahat ki gaur se sune jo Jaye isme
Mohabbat ek maikhana hai kam peene wale na Aaye isme

Pages ( 2 of 4 ): « Previous1 2 34Next »