Sharab Shayari | दारू पर शायरी | Shayari about Sharab

Sharab Shayari, Nasha Shayari, and Daru Shayari in Hindi, दारू पर शायरी are some amazing words that will drive you crazy while you are lost in the drinking dilemma. If you get drunk sometimes and want to share your feelings, these wonderful words are the best possible way to express how you feel when you are drunk.

Sharab Shayari

sharab shayari in hindi font

जो आंखें चूमती थी मुझे सुलाने के लिए
उसने ज़्यादा देर नही करी इन्हें रुलाने के लिए
कोनसा गुनाह किया मैंने कोई ये तो बताये
मुझे शराब पीनी पड़ रही है उसे भुलाने के लिए ।🍷
Jo akhe chumti thi mujhe sulane ke liye
Usne jyada der nahi kari inhe rulane ke liye
Konsa gunah kiya mene koi ye to btaiye
Mujhe sharab pini pr rhi ha use bhulane ke liye.🍷
sharab shayari in hindi font

मोहब्बत को बुरा क्यों कहूं जब किस्मत ही मेरी खराब है
वो जा रही है तो जाने दो मेरे पास मेरी शराब है ।🍷
Mohabbat ko bura kyu jab kismst hi meri kharsb ha,
wo ja rhi ha to jane do mere pass meri sharab ha.🍷
के साँसे चलती है बदन में हरकत नही होती
ये खुद को मारकर जीना कैसा है
और ये शराब मुझे मीठी लगती है
ये बताओ जहर पीना कैसा है ।🍷
Ke sase chalti ha badan me harkat nhi hoti
Yw khud ko markar jeena kaisa ha,
Aur yeh sharab muhhe mithi lgti ha
Yeh btao jeher pina kaisa ha.🍷
sharab shayari hindi font

खुशिया सुकून चैन सब नाराज़ है मुझसे
किसी तरह दोस्त सुलादेते है शराब पिलाने के बाद ।🍻🥂
Khushiya sukun chan sb naraz ha mujhse
kisi tarah dost suladete ha sharab pilane ke bad.🍻🥂
daru shayari in hindi

रात गुमसुम हैं मगर चांद खामोश नहीं ,कैसे कह दूं आज फिर होश नहीं,
कि ऐसा डूबा तेरी आंखों की गहराई में, हाथ में जाम है मगर पीने का होश नहीं।🍻🥂
Raat Gumsum Hai Magar Chand Khamosh Nahin, Kaise kah Dun Aaj Fir Hosh Nahin
Ki Aisa Duba Teri Aankhon Ki gehrai Mein Hath Mein Jaam Hai Magar Peene Ka hosh nhi.🍻🥂
दारू पर शायरी

क्या सच मुच छोड़ गई हो मुझे बस इतना बतादो
अगर ऐसा है तो कोई आके मेरा गला दबा दो
तुझसे जुदा होकर पानी भी गले से उतरता नही
शराब ले आये हो ,  तो लायो पिला दो ।
Kya sach much chor gyi mujhe bhs itna batado,
agr aisa ha to koi akr mera gala daba do,
tujhse juda hokr pani bhi gale se utarta nhi,
sharab le aye ho to layo pila do.

Sharab Shayari in Hindi Font

मेरी गोद में सर रखकर जो किए थे तुमने वादे

उन सारे वादों का हिसाब लाया हूं
हर बार की तरह दिल तोड़ न दो तुम मेरा ये सोचलर खिलोने सारे खराब लाया हूं
तेरे चक्कर मे जो महखाने के काटे है चक्कर
जानपहचान इतनी हो गयी है कि इस बार नकदी में नही उधारी में शराब लाया हूं ।
Meri godi me sir rakh kr jo kiye te tumne wade us sare wado ka hisab laya hu,
Her bar ki tarah dil na tod do tum mera ye sochkr khilone sare kharab laya hu,
Tere chakkar me jo mehkhane ke  katte ha chakkar,
jann pechna itni ho gyi ha ki is bat nakdi me nahi udhari me laya hu.
Pages ( 1 of 4 ): 1 234Next »