Rahat Indori Shayari | राहत इन्दौरी शायरी और बोल | Rahat Indori quotes

[heading style=”default” size=”13″ align=”center” margin=”20″]Rahat Indori quotes Hindi[/heading]

Rahat Indori was invited as a guest on the Kapil Sharma Show twice. Rahat Indori was also a guest on the Wah! Wah! Kya Baat Hai! We can memorize it by sharing Rahat Indori Shayari and Rahat Indori motivational Shayari.

Rahat Quotes

रोज़ तारों को नुमाइश में ख़लल पड़ता है
चाँद पागल है अँधेरे में निकल पड़ता है |

Roj taro ko numaish me khalal padta hai
Chaand Pagal hai andhere me nikal pata hai.

बहुत ग़ुरूर है दरिया को अपने होने पर
जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियां उड़ जाएं

Bohot gurur hai dariya ko Apne hone par
Jo meri pyas se uljhe toh dhajiya ud jaye.

Indori Shayari in English

मोड़ होता है जवानी का सँभलने के लिए
और सब लोग यहीं आ के फिसलते क्यूं हैं |

Mod Hota hai jawani ka sambhalne ke liye
Aur sab log Yahi aake fisalte kyoon hai.

आसमान लाये हो ले आओ ज़मीन पर रख दो.
मेरे हुजरे में नहीं, और कहीं पर रख दो,
आसमां लाये हो ले आओ, जमीं पर रख दो!

Aasman laye ho le aao jameen par rakh do,
Mere huzre me nahi, aur kahi par rakh do,
Aasman laye ho le aao jameen par rakh do.

Pages ( 3 of 4 ): « Previous12 3 4Next »