Maa Shayri Lines | माँ पर दो लाइन शायरी | Maa SMS in HIndi

Mother (माँ) is the most precious gift that God gave us. You can read unlimited Maa Shayri lines, Maa SMS in Hindi, and Maa love Shayari in Hindi share your feelings with your mother. Whenever you miss your mother, feel free to express your love to her, we make it easier for you by providing you with माँ पर शायरी and much more.

Maa Shayri lines

Maa shayari

बहुत गुरूर था मुझे मैंने समंदर को आंख भर कर देख डाला मेरी मां ने जब आवाज लगाई तो सारी कायनात ने मत्था टेक डाला।

Bahut guroor tha mujhe Main samander ko Aankh Bhar Kar Dekh Dala Meri Maa Ne Jab Awaaz Lagai to Sari kaynat Ne Mattha take Dala.

माँ पर शायरी

इतना गम है जिंदगी में हम बता नहीं सकते लफ्जों में अपने गम को जता नहीं सकते और मां तो मां होती है सब जानती है मां के सामने आप अपने गम को छुपा नहीं सकते।

Itna Gam Hai Jindagi Mein Ham Bata Nahin Sakte Lafzon Mein Apne Gam ko Jata Nahin Sakte aur man to man Hoti Hai Sab Janti Hai Man Ke Samne aap apne Gam ko Chhupa Nahin Sakte.

माँ पर शायरी

कौन है मेरा यह मुझे तड़पने में दिख गया किसी को प्यार पराए में किसी को अपने में दिख गया और तेरे जैसा कोई नहीं मां मेरी हालत खराब है यह रात तुझे सपने में दिख गया।

Kaun Hai Mera yah Mujhe tadapne Mein dikh Gaya Kisi Ko Pyar per Aaye Mein Kisi Ko Apne Mein dikh Gaya aur Tere Jaisa Koi Nahin man Meri Halat kharab hai ya Raat Tujhe Sapne Mein dikh Gaya.

उसके पल्लू ने ही ना जाने कितने तूफानों को मोड़ दिया और छानकर जहर को पल्लू से अमृत कर दिया कल आया था समंदर मुझे भी डुबाने मां ने उसे भी पल्लू में समेटा और निचोड़ दिया।

Uske Pallu Ne Hi Na Jaane kitne tufanon ko Mod Diya aur chhankar Jahar ko Pallu se Amrit kar diya cal aaya tha Samandar mujhe bhi Deewane Maa ne use bhi Pallu Mein Samita aur ne chhod diya.

माँ पर शायरी

ना पूजा करता हूं और ना नमाज पढ़ता हूं ना किसी सजदे पर सर झुकाया है और ना ज्ञान है मुझे कुरान का न गीता को माथे से लगाया है बस पूजता हूं उस देवी को जिसने मुझे धरती पर लाया है।

Na Puja karta hun aur na Namaz Padta Hoon Na Kisi Sajde per Sar jhukaya hai aur na Gyan hai mujhe Quran ka nagita ko mathe se lagaya hai bus poochh raha hun use Devi Ko Jisne Mujhe Dharti Pr laya ha.

 Maa love Shayari in Hindi

बिना उसके यह पत्ते यह शाके यह डाली सब बेकार है वीरान है जिस घर में मां नहीं वह घर घर नहीं सिर्फ खाली मकान है।

Bina Uske ya Patte ya sakhe ya Dali Sab bekar Hai Veeran Hai Jis ghar mein man Nahin Main Ghar Ghar Nahin sirf Khali Makan Hain.

किसी ने राम लिखा तो किसी ने रहमान लिखा सबको ही अपने मन का ज्ञान लिखा सोच में पड़ गया यारों कि मैं क्या लिखूं आंख बंद करके कागज पर कलम घुमाया तो मेरी कलम  ने मेरी मां का नाम लिखा।
Kisi Ne Ram likha to Kisi Ne Rahman likha Sabko hi Apne Man ka gyan likha Soch Mein Pad Gaya Yaaron Ki Main Kya likhun Aankh Band Karke kagaj per Kalam ghumayetum mere Kalam Ne Meri Maa Ka Nam likha.
तुम्हें बिस्तर पर सुला कर वो खुद दरी पर सो देती है मां तुम्हारी खुशी के लिए सारी इच्छाएं तक खो देती है वह ममता की मूरत है अपना गुस्सा निकले तो निकले कैसे यारों इसलिए मां ज्यादा गुस्से में ख़ुद रो देती है।
Tumhen Bistar per Sula kar book khuddari per so deti hai man Tumhari Khushi Ke Liye sari ichchayen Tak Kho Deti Hai vah Mamta Ki Murat Hai Apna gussa nikale to nikale Kaise isliye man jyadatar gusse mein Khud Roj Deti Hai.
Pages ( 1 of 4 ): 1 234Next »